5.12.08

एक पत्र भारतीय प्रधान मंत्री के नाम............

क्रोध,क्षोभ,घृणा,आक्रोश और अवसाद इत्यादि ने मनोभूमि को ऐसे आच्छादित कर दिया कि उसने समस्त शब्दों को ही कुंठित कर दिया.लगातार मस्तिष्क में ये वाक्य कौंध कौंध कर हथौडे मारते हैं कि आठ व्यक्तियों ने मिलकर कैसे पूरे देश को झकझोर डाला.कितना सरल है सौ करोड़ आबादी वाले देश को एक झटके में पूरी तरह हिला देना......जब सबकुछ इतना आसान है तो फ़िर लंबे चौडे विनाशक युद्धों की आवश्यकता ही क्या है.बस दो,चार,आठ दस लोग लाव लश्कर के साथ टहलते हुए आयेंगे और खूनी खेल खेलकर चले जायेंगे.अबकी तो मारे गए, अगली बार किसी वरिष्ठ मंत्री के नाते रिश्ते वालों को बंधक बनायेंगे और भारत सरकार उन्हें अपने सरकारी विमान से सकुशल उनके इच्छित देश की सुरक्षित सीमाओं में पहुँचा आयेंगे.


इतने वर्षों से झेलते हुए यूँ तो जननेता संग जनता ऐसी आतंकवादी घटनाओ की आदी सी हो चुकी है,पर इसबार यह घटना जिस ढंग से हुई,जनताओं के लिए भले यह आम सी बात रह गई पर आम जनता के सब्र का प्याला जरूर छलक गया है.इस त्रासदी के बीच ये दो बातें बड़ी ही सुखद रही कि एक तो आम जनता बिना प्रायोजित और किसी राजनेता के अगुआई के ही सडकों पर उतर आई और दूसरे इस घटना ने जाति पांति धर्म भाषा की दीवार को द्वस्त करते हुए प्रत्येक भारतीय के मन को व्यथित आक्रोशित और आंदोलित किया.यह कोई छोटी उपलब्धि नही.जिस विध्वंसक प्रयोजन का आधार ही हिंदू मुस्लिम में साम्प्रदायिकता को भड़काकर सांप्रदायिक सौहाद्र को ध्वस्त करना हो ,वहां यदि इसके उलट दोनों समुदाय वैर भाव भुलाकर इसकी भर्त्सना करे और विरोध को एकजुट हो जाए तो इसमे निश्चित रूप से भारत की जीत है. इसके पूर्व की अन्य घटनाओं ने भले यह स्थिति न आने दी हो ,पर इस घटना ने तो यह कमाल कर ही दिया.आतंकवादियों को कम से कम अब समझ जाना चाहिए कि भारत जैसे देश में जहाँ हिंदू मुस्लिम संस्कृतियाँ इस तरह से घुली मिली हैं,इतना सहज नही है इन्हे पूरी तरह से अलग करना या देश को अस्थिर करना.


इन दिनों पूरे देश में ईमेल तथा एस एम् एस द्वारा जो एक दूसरे को संदेश भेजे जा रहे हैं,वे अत्यन्त प्रभावी और शुभ हैं.जहाँ आम जनता पर आक्षेप लगाया जाता था कि जनता आत्मकेंद्रित है,अपने कर्तब्यों अधिकारों के प्रति बिल्कुल भी सजग नही,उन्हें देश से नही सिर्फ़ अपने नफे नुक्सान से मतलब है,वहां इस तरह देश तथा अपने कर्तब्यों अधिकारों के प्रति सजगता देखकर अपार हर्ष होता है.चाहे कोई कुछ भी कहे पर मैं मानती हूँ कि आज भी आमजनों में देशभक्ति का जज्बा उन जांबाजों से कम नही जो आजादी के जंग में दुश्मनों के सामने अपने सीने खोलकर निकल चले थे.जनता सो नही रही है बस अन्दर अन्दर सब सुलग रहे हैं,अब देशवासियों का धैर्य उस सीमा पर पहुँच गया है जहाँ एक छोटी सी भी घटना उसे भ्रष्ट राजनेताओं और विध्वंसक शक्तियों के ख़िलाफ़ अस्त्र उठाने को मजबूर कर सकती है.


आज एक ईमेल मुझे भी प्राप्त हुआ इसे अपने समस्त संपर्कों में प्रसारित करने के अनुरोध के साथ.उसको पढ़ ऐसा लगा कि सचमुच यह अपने ही मन की बात हो........आप भी पढ़ें.........

READ TILL END………….


A PERFECT LETTER TO PM.
LETTER TO PRIMEMINISTER
Dear Mr. Prime minister ,
I am a typical mouse from Mumbai. In the local train compartment which has capacity of 100 persons, I travel with 500 more mouse. Mouse at least squeak but we don't even do that.
Today I heard your speech. In which you said 'NO BODY WOULD BE SPARED'. I would like to remind you that fourteen years has passed since serial bomb blast in Mumbai took place. Dawood was the main conspirator. Till today he is not caught. All our bolywood actors, our builders, our Gutka king meets him but your Government can not catch him. Reason is simple; all your ministers are hand in glove with him. If any attempt is made to catch him everybody will be exposed. Your statement 'NOBODY WOULD BE SPARED' is nothing but a cruel joke on this unfortunate people of India.
Enough is enough. As such after seeing terrorist attack carried out by about a dozen young boys I realize that if same thing continues days are not away when terrorist will attack by air, destroy our nuclear reactor and there will be one more Hiroshima.
We the people are left with only one mantra. Womb to Bomb to Tomb. You promised Mumbaikar Shanghai what you have given us is Jalianwala Baug.
Today only your home minister resigned. What took you so long to kick out this joker? Only reason was that he was loyal to Gandhi family. Loyalty to Gandhi family is more important than blood of innocent people, isn't it?
I am born and bought up in Mumbai for last fifty eight years. Believe me corruption in Maharashtra is worse than that in Bihar. Look at all the politician, Sharad Pawar, Chagan Bhujbal, Narayan Rane, Bal Thackray , Gopinath Munde, Raj Thackray, Vilasrao Deshmukh all are rolling in money. Vilasrao Deshmukh is one of the worst Chief minister I have seen. His only business is to increase the FSI every other day, make money and send it to Delhi so Congress can fight next election. Now the clown has found new way and will increase FSI for fisherman so they can build concrete house right on sea shore. Next time terrorist can comfortably live in those house , enjoy the beauty of sea and then attack the Mumbai at their will.
Recently I had to purchase house in Mumbai. I met about two dozen builders. Everybody wanted about 30% in black. A common person like me knows this and with all your intelligent agency & CBI you and your finance minister are not aware of it. Where all the black money goes? To the underworld isn't it? Our politicians take help of these goondas to vacate people by force. I myself was victim of it. If you have time please come to me, I will tell you everything.
If this has been land of fools, idiots then I would not have ever cared to write you this letter. Just see the tragedy, on one side we are reaching moon, people are so intelligent and on other side you politician has converted nectar into deadly poison. I am everything Hindu, Muslim, Christian, Schedule caste, OBC, Muslim OBC, Christian Schedule caste, Creamy Schedule caste only what I am not is INDIAN. You politician have raped every part of mother India by your policy of divide and rule.
Take example of former president Abdul Kalam. Such a intelligent person, such a fine human being. You politician didn't even spare him. Your party along with opposition joined the hands, because politician feels they are supreme and there is no place for good person.
Dear Mr Prime minister you are one of the most intelligent person, most learned person. Just wake up, be a real SARDAR. First and foremost expose all selfish politician. Ask Swiss bank to give name of all Indian account holder. Give reins of CBI to independent agency. Let them find wolf among us. There will be political upheaval but that will better than dance of death which we are witnessing every day. Just give us ambient where we can work honestly and without fear. Let there be rule of law. Everything else will be taken care of.
Choice is yours Mr. Prime Minister. Do you want to be lead by one person or you want to lead the nation of 100 Crore people?

26 comments:

राज भाटिय़ा said...

अजी यह आठ दस नही थे, इन के साथ जरुर घर के भेदी भी मिले होगे, आठ दस इतना कुछ कभी नही कर सकते,
यह पत्र बहुत सही लगा, धन्यवाद

शहरोज़ said...

bahut hi vichalit karne wali post.
bhatia sahab ne sahi kaha zaroor koi jaichand aur meer jaafar mila hoga dusmanon se.

योगेन्द्र मौदगिल said...

sahi baai...
behtreen abhivyakti......

ताऊ रामपुरिया said...

आपने बहुत सटीक और सशक्त रूप से बात रखी है क्योंकि बिना किसी सहारे के ये काम मुश्किल ही था ! पुरी तरह सहमत !

रामराम !

Zakir Ali 'Rajneesh' said...

पत्र के माध्‍यम से आम आदमी की आवाज को उठाया गया है। हिन्‍दी में अनुवाद करके प्रस्‍तुत करने का शुक्रिया।

कुश said...

आपने बिल्कुल ठीक लिखा.. जनता सिर्फ़ आत्म केंद्रित नही रही अब.. इस बार बहुत ही सहजता का परिचय दिया है सभी ने.. और यही होना चाहिए

रश्मि प्रभा said...

Choice is yours Mr. Prime Minister. Do you want to be lead by one person or you want to lead the nation of 100 Crore people?
........ sahi , hum saath hain

दीपक कुमार भानरे said...

आमजनों में देशभक्ति का जज्बा उन जांबाजों से कम नही जो आजादी के जंग में दुश्मनों के सामने अपने सीने खोलकर निकल चले थे.जनता सो नही रही है बस अन्दर अन्दर सब सुलग रहे हैं,अब देशवासियों का धैर्य उस सीमा पर पहुँच गया है जहाँ एक छोटी सी भी घटना उसे भ्रष्ट राजनेताओं और विध्वंसक शक्तियों के ख़िलाफ़ अस्त्र उठाने को मजबूर कर सकती है.
बहुत ही सटीक है और यह आवाज़ हर आमजन के दिल की अभिव्यक्ति है .
धन्यवाद .

Gyan Dutt Pandey said...

जी हां, यह तो अच्छा हुआ है कि लोग अपनी सार्थक भावनायें व्यक्त कर रहे हैं। बस यही कामन है कि सोच में आई सार्थकता बनी रहे।
प्रजातन्त्र इसी प्रकार से मेच्योर होता है।

Arvind Mishra said...

जोरदार ! काश प्रधान मंत्री इसे पढ़ पाते -सच्चे हिन्दुस्तानी की सच्ची आवाज !

Shiv Kumar Mishra said...

पत्र में लिखी गई बातें बहुत तार्किक हैं. लेकिन प्रधानमंत्री ठहरे मजबूर आदमी.
और मजबूरी का नाम मनमोहन सिंह.

डॉ .अनुराग said...

यही भावना ओर जज्बा कायम रहे फिलहाल यही दुआ है

संदीप शर्मा Sandeep sharma said...

chitthi ka jawab mile to batana...

लावण्यम्` ~ अन्तर्मन्` said...

सही लिखा है-
काश लेखन से,
समाज मेँ ऐसी ही धार बनी रहे

Upadhyayjee said...

ye patra bahut saare bloggers ne post kiya hai. Maine har jagah bola hai aur yahan bhi bolunga.
Editor sahab Mumbai ki corruption ko Bihar se compare nahin kar sakte. Mumbai ki corruption deshdroh ke tarz par hai. Editor sahab chahen to Prime minister ki chitthi me ye likh sakte hain ki Mumbai me bhi Bihar ki tarah speedy trial honi chahiye. Speedy trial ke karta dharta Abhyanand ko Mumbai me training dene ke liye bulani chahiye. Ye ek habit si ban gayee hai anpadh kupmanduko ko jo ek hi sahar me paida hokar pale badhe hote hain. Wo dusre shahar aur states ke baare me bahut kum jankari rakhte hain.

dr. ashok priyaranjan said...

sach likha hai.

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन said...

सुकून मिला, धन्यवाद!

NirjharNeer said...

क्रोध,क्षोभ,घृणा,आक्रोश और अवसाद इत्यादि ने मनोभूमि को ऐसे आच्छादित कर दिया कि उसने समस्त शब्दों को ही कुंठित कर दिया.लगातार मस्तिष्क में ये वाक्य कौंध कौंध कर हथौडे मारते हैं कि आठ व्यक्तियों ने मिलकर कैसे पूरे देश को झकझोर डाला.कितना सरल है सौ करोड़ आबादी वाले देश को एक झटके में पूरी तरह हिला देना......जब सबकुछ इतना आसान है तो फ़िर लंबे चौडे विनाशक युद्धों की आवश्यकता ही क्या है.बस दो,चार,आठ दस लोग लाव लश्कर के साथ टहलते हुए आयेंगे और खूनी खेल खेलकर चले जायेंगे.अबकी तो मारे गए, अगली बार किसी वरिष्ठ मंत्री के नाते रिश्ते वालों को बंधक बनायेंगे और भारत सरकार उन्हें अपने सरकारी विमान से सकुशल उनके इच्छित देश की सुरक्षित सीमाओं में पहुँचा आयेंगे.

aapne jo tasviir pesh ki hai aaj ke netaao ki vo thiik hi hai..

jab aam jan manas ka dhairy tootega to sab julm bah jayega...
kranti ki aag yun hi nahi failti uske piiche chiipi aam jan manas ki pidaa hoti hai jo aapne bayan ki hai .

BrijmohanShrivastava said...

aapkee hindi aur angrezee post par maine kuchh likha magar jab pest karna chaha to kewl delete aur selectall hee khul raha hai /cafe par hone se save bhee nahin kar sakta ki phir nivedan kar sakoon ,mujhe afsos hai

दिगम्बर नासवा said...

आतंकवाद का जहर पूरी दुनिया के साथ साथ हमारे देश मैं तो तेजी से फ़ैल रहा है

जिस देश मैं इतना अलगाव-वाद, इतनी गरीबी हो, जिस पेट मैं कई कई दिन तक एक दाना भी नही जाता, उन लोगों को ऐसी बात समझ नही आती. हम सब को मिल कर बहुत तेजी के साथ बदलाव लाना होगा, उसकी प्रक्रिया चालू करनी पड़ेगी तभी समाज के लोग जागरूक होंगे. जैचन जैसे लोग तो हर काल मैं मिलेंगे पर ज़रूरत उनको खोज केर निकालने की है

आपका लेखन बहुत सार्थक और समयोचित है

पुरुषोत्तम कुमार said...

वाकई, इस बार आतंकियों ने चोट पहुंचाई है, उससे हर देशवासी तिलमिला उठा है। यह तिलमिलाहट हर जगह दिख भी रही है। बात भी बेचैन करनेवाली है। कुछ आतंकियों ने जो दुस्साहस किया है, उसे ही तो घर में घुसकर पीटना कहते हैं।

bahadur patel said...

achchhi bhasha hai. achchhi chitthi likhi apane.

prashant said...

ham apne post se apne vichaar desh ke logon tak pahuncha sakte hain.aise poston se is desh ke netaaon ko imaandaari purvak desh ki suraksha ke liye kade kaanoon banaane chaahi jisse hum apne aapko surkshit mahsoos kar saken.

ye post aaj ki jaroorat hai

रवीन्द्र प्रभात said...

आपकी अभिव्यक्ति अत्यन्त सुंदर है , यह क्रम बना रहे , यही शुभकामनाएं है !

dr.bhoopendra singh said...

I must appriciate your feelings because they represent us all the people of INDIA our motherland.You write from core of your heart so is the reason that it intensifies the pain and greaf after Bombay disaster.My regards and best wishes.
dr.bhoopendra

sa said...

AV,無碼,a片免費看,自拍貼圖,伊莉,微風論壇,成人聊天室,成人電影,成人文學,成人貼圖區,成人網站,一葉情貼圖片區,色情漫畫,言情小說,情色論壇,臺灣情色網,色情影片,色情,成人影城,080視訊聊天室,a片,A漫,h漫,麗的色遊戲,同志色教館,AV女優,SEX,咆哮小老鼠,85cc免費影片,正妹牆,ut聊天室,豆豆聊天室,聊天室,情色小說,aio,成人,微風成人,做愛,成人貼圖,18成人,嘟嘟成人網,aio交友愛情館,情色文學,色情小說,色情網站,情色,A片下載,嘟嘟情人色網,成人影片,成人圖片,成人文章,成人小說,成人漫畫,視訊聊天室,a片,AV女優,聊天室,情色,性愛